written by khatabook | July 3, 2021

सर्टिफाइड GST प्रैक्टिशनर कैसे बनें?

जीएसटी या गुड्स एंड सर्विस एक्ट पूरे देश में लगाए गए अप्रत्यक्ष करों के लिए सिंगल कानून निर्दिष्ट करता है। इसके तहत हर POS या पॉइंट ऑफ सेल पर टैक्स लगता है। इस तरह से तीन कर हैं:

  • CGST या केंद्र द्वारा लगाया गया केंद्रीय जीएसटी।
  • SGST या राज्य द्वारा लगाया गया राज्य जीएसटी ।
  • IGST या एकीकृत GST जो इंटरस्टेट सेल्स के लिए लगाया जाता है।

2017 के बाद से जीएसटी कानूनों के तहत 1 करोड़ से अधिक करदाताओं को रिफंड के लिए फाइलिंग करने, पंजीकरण करने आदि में संदेह का सामना करना पड़ता है। इसलिए सरकार ने करदाताओं को फाइलिंग और अन्य आवश्यकताओं में सहायता करने के लिए जीएसटी प्रैक्टिशनर्स और फेसिलिएशन सेंटर शुरू किए हैं।

GST प्रैक्टिशनर

GSTP या GST प्रैक्टिशनर कौन हैं?

GSTP या GST प्रैक्टिशनर को करदाताओं की ओर से निम्नलिखित गतिविधियों को करने के लिए राज्य और केंद्र सरकार द्वारा अनुमोदित किया जाता है।

  • सही आवेदनों के साथ पंजीकरण कैंसल या अमेंड करें।
  • जीएसटी अधिनियम के तहत नए पंजीकरण आवेदन फाइल करें।
  • जीएसटी रिटर्न मासिक, तिमाही, वार्षिक, और अमेंडेड या फाइनल रिटर्न जैसे फॉर्म GSTR –1, फॉर्म GSTR –3B, फॉर्म GSTR –9 आदि फाइल करें।
  • इनवार्ड या आउटवर्ड सप्लाई का विवरण दे।
  • देरी से दाखिल करने के लिए दंड, कर, ब्याज, शुल्क आदि जैसे विभिन्न हेड के तहत देय भुगतान को देकर इलेक्ट्रॉनिक कैश लेजर क्रेडिट बनाए रखें।
  • करदाता के अधिकृत प्रतिनिधि के रूप में उत्तर दें और अपीलेट ट्रिब्यूनल या ऑथोरिटी, विभाग के अधिकारियों आदि के समक्ष उपस्थित हों।
  • रिफन्ड या क्लेम केआवेदन को दाखिल करें।

अब आइए एक नजर डालते हैं कि जीएसटी प्रैक्टिशनर कैसे बनें। आइए जीएसटी टैक्स प्रैक्टिशनर बनने के लिए योग्यता की शर्तों के साथ शुरुआत करें।

GSTP योग्यता और शर्तें:

एक जीएसटी प्रैक्टिशनर को चाहिए कि वह :

  • एक भारतीय नागरिक हो।
  • स्वस्थ मानसिक स्वास्थ्य का हो।
  • उसकी फाइनेंशियल कैपेसिटी हो या कभी दिवालिया घोषित नहीं किया गया हो।
  • एक अच्छा चरित्र हो और दो साल से अधिक दिन के लिए जेल न गया हो। 
  • जीएसटी प्रैक्टिशनर के लिए आवश्यक शैक्षणिक योग्यता या कार्य अनुभव होना चाहिए।

जीएसटी कानून में जीएसटी प्रैक्टिशनर के लिए उल्लिखित योग्यता निम्न हैं- 

  • रिटायर्ड ऑफिसर जैसे कम से कम 2 वर्ष के अनुभव वाला गैजेटेड ग्रुप बी का ऑफिसर, राज्य सरकार, कमर्शियल टेक्स डिपार्टमेंट या कस्टम एक्साइज बोर्ड का ऑफिसर।
  • कानून, वाणिज्य, बैंकिंग, व्यवसाय प्रबंधन, व्यवसाय प्रशासन, उच्च लेखा परीक्षा आदि में डिग्री के साथ भारतीय विश्वविद्यालयों से स्नातकोत्तर / स्नातक।
  • जीएसटीपी के रूप में नियुक्ति के लिए सरकारी परीक्षा उत्तीर्ण की है।
  • टैक्स रिटर्न प्रिपेयरर्स या सेल्स टैक्स प्रैक्टिशनर के रूप में पांच साल से अधिक का अनुभव वाला व्यक्ति।
  • किसी विदेशी/भारतीय विश्वविद्यालय की डिग्री परीक्षाओं मे ग्रेजुएट 
  • निम्नलिखित में से किसी भी परीक्षा को उत्तीर्ण किया हो।
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ कॉस्ट एकाउंटेंट्स ऑफ़ इंडिया का फाइनल परीक्षा
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ़ इंडिया का फाइनल परीक्षा
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ कंपनी सेक्रेटरीज ऑफ़ इंडिया का फाइनल परीक्षा

चूंकि अधिकांश नामांकन और GSTP के अभ्यास के लिए कंप्यूटर संचालन, एक्सेल शीट, स्प्रेडशीट और फॉर्म में अच्छी जानकारी की आवश्यकता होती है और साथ ही आपके पास निम्नलिखित चीज़ें भी होनी चाहिए-

  • आधार कार्ड से लिंक मोबाइल नंबर,
  • पैन कार्ड,
  • ईमेल आईडी,
  • पेशेवर पता,
  • आधार कार्ड  

जीएसटी प्रैक्टिशनर परीक्षा क्यों महत्वपूर्ण है?

जीएसटी प्रैक्टिशनर परीक्षा सभी जीएसटी प्रैक्टिशनर्स के लिए जरूरी है। यह प्रमाणित करता है कि आप सक्षम हैं और करदाताओं का विश्वास और विश्वसनीयता अर्जित करते हैं। जीएसटी प्रैक्टिशनर के रूप में नामांकन के दो साल के भीतर परीक्षा उत्तीर्ण की जानी चाहिए। 1 जुलाई 2018 से पहले GSTP के रूप में नामांकित लोगों को GST प्रैक्टिशनर परीक्षा पास करने के लिए 1 वर्ष का समय मिलता है। जीएसटी प्रैक्टिशनर का वेतन भी एक बड़ा खिचाव है क्योंकि भारत में औसत कमाई 6,40,000 रुपये प्रति वर्ष है।

जीएसटी प्रैक्टिशनर कैसे बनें?

आपको जीएसटी पोर्टल पर GSTP के लिए पंजीकरण करना चाहिए और आवश्यक जीएसटीपी परीक्षा पास करनी चाहिए। दो चरणीय प्रक्रिया को नीचे समझाया गया है-

स्टेप 1:

फॉर्म PCT-01 का उपयोग करके जीएसटी पोर्टल पर पंजीकरण और नामांकन प्रमाणपत्र के साथ जीएसटी प्रैक्टिशनर के रूप में नामांकन फॉर्म PCT-02 भरे। यह पंजीकरण और नामांकन प्रक्रिया जीएसटी पोर्टल पर TRN या टेंपररी रेफरेंस नंबर जेनरेट करने के लिए की जाती है। पंजीकृत मोबाइल नंबर को एक OTP प्राप्त होता है और आप सभी दस्तावेज अपलोड कर सकते हैं। इस तरह के पंजीकरण के वेरिफिकेशन के 15 दिनों के भीतर एनरोलमेंट नंबर और सर्ट्रिकेट पंजीकृत मेल-आईडी पर भेज दिया जाता है।

स्टेप 2 :

जीएसटी प्रैक्टिशनर के रूप में सर्टिफिकेशन के लिए NACIN की GSTP परीक्षा में क्वालीफाई करें: जीएसटी प्रैक्टिशनर परीक्षा का पंजीकरण और सर्टिफिकेशन GSTP नामांकन के 2 साल के भीतर मिल जानी चाहिए। NACIN (नेशनल एकेडमी ऑफ कस्टम्स, इनडायरेक्ट टैक्सेस एंड नारकोटिक्स) GSTP परीक्षा में प्रमाणित GST प्रैक्टिशनर के रूप में  क्वालीफाई करने के लिए 50% स्कोर की आवश्यकता होती है। एक बार क्वालीफाई करने के बाद, एनरोल्ड प्रैक्टिशनर की सूची जीएसटी पोर्टल पर प्रदर्शित की जाती है ताकि करदाता अपनी पसंद के जीएसटी प्रैक्टिशनर से संपर्क कर सकें।

यहाँ जीएसटी पोर्टल पर जीएसटी प्रैक्टिशनर सर्टिफिकेट के पंजीकरण और नामांकन के लिए चरण-दर-चरण प्रक्रिया का पालननीचे दिखाया गया है।

चरण -1: जीएसटीपी नामांकन के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया:

https://www.gst.gov.in/ लिंक का उपयोग करके वेबसाइट पर लॉग ऑन करें।

सर्विसेज़ " टैब पर क्लिक करें। 'रजिस्ट्रैशन' चुनें और 'न्यू रजिस्ट्रैशन' टैब पर क्लिक करें।

यह नीचे प्रदर्शित स्क्रीन दिखाता है।

  • आपको ड्रॉप-डाउन 'आइ ऐम ए ' सूची में जीएसटी प्रैक्टिशनर का चयन करना होगा और अपना पता बताने के लिए ड्रॉप-डाउन बॉक्स में सूची से केंद्र शासित प्रदेश/राज्य/जिला का चयन करना होगा।
  • कानूनी नाम के तहत आप अपने पैन कार्ड पर नाम का उपयोग कर सकते हैं।
  • OTP प्राप्त करने के लिए ऑथराइज्ड सिग्नेट्री/GSTP की ईमेल आईडी और मोबाइल नंबर दर्ज करें।
  • कैप्चा टेस्ट में कोड कैरेक्टर दर्ज करें और पेज के नीचे प्रोसीड टैब पर क्लिक करें। यह उस पेज पर ले जाता है जहां पैन से जुड़े GSTP आईडी, प्रोविजनलआईडी / GSTINन / UIN प्रदर्शित और मान्य होते हैं। फिर आपको OTP वेरिफिकेशन पेज पर ले जाया जाता है।
  • मोबाइल नंबर पर भेजे गए ओटीपी को दर्ज करें और फिर पंजीकृत ईमेल आईडी पर भेजे गए ओटीपी को दर्ज करें। एक बार जब आप दोनों ओटीपी दर्ज कर लेते हैं, तो पेज के अंत में 'प्रोसीड' टैब पर क्लिक करें।
  • अब आप अगले पेज पर पहुँच जाएंगे, जहाँ आपको सारी डिटेल्स भरनी है, दस्तावेज अपलोड करना है आदि।
  • आपको ईमेल द्वारा 15 अंकों की टेंपररी रेफरेंस नंबर प्राप्त होगी। TRN नंबर और कैप्चा कोड दर्ज करें। इसके बाद प्रोसीड पर क्लिक करें।
  • आपको 2 ओटीपी प्राप्त होंगे, एक फोन पर और दूसरा ईमेल द्वारा। अगले पेज पर "माई सेव्ड एप्लिकेशन" पर ओटीपी दर्ज करें और एक्शन के तहत एडिट आइकन पर क्लिक करें

नीचे दिए गए 'सामान्य विवरण' भरें।

  • ड्रॉप-डाउन सूची से उपयुक्त नामांकन प्राधिकारी के लिए राज्य/संघ राज्य क्षेत्र/केंद्र दर्ज करें।
  • उपयुक्त बॉक्स से संस्थान/विश्वविद्यालय विवरण, स्नातक का वर्ष, योग्यता डिग्री विवरण और प्रमाण दस्तावेज के प्रकार और उनकी ड्रॉप-डाउन सूची दर्ज करें।
  • सभी जरूरी दस्तावेजों को JPEG/PDF कम्प्रेस्ड फॉर्मैट में चुनें और अपलोड करें।
  • उसके बाद आगे बढ़ने के लिए 'सेभ एण्ड कन्टिन्यू ' बटन का उपयोग करें।

सभी आवेदक विवरण भरें जैसे

  • जन्म तिथि।
  • पहला नाम, मध्य और उपनाम/अंतिम नाम।
  • लिंग।
  • आधार संख्या।
  • JPEG फोटोग्राफ अपलोड करें।
  • अगले चरण को भरने के लिए 'सेभ एण्ड कन्टिन्यू' पर क्लिक करें।

प्रोफेशनल पता भरें

  • उपयुक्त पिन कोड के साथ प्रैक्टिस करने के स्थान का पूरा पता दर्ज करें।
  • पते के प्रमाण के रूप में प्रस्तुत दस्तावेज चुनें और फिर PDF/JPEG फॉर्मैट में दस्तावेज अपलोड करें।
  • 'सेव एण्ड कन्टिन्यू ' पर क्लिक करें।

कंप्लीट वेरिफिकेशन

  • वेरिफिकेशन स्टेटमेंट चेक बॉक्स में टिक करें।
  • एनरोलमेंट प्लेस का विवरण दर्ज करें।
  • सबमिशन और वेरिफिकेशन फॉर्मैट जैसे E-Sign, DSC या  EVC चुनने के लिए  वेरिफिकेशन ऑप्शनपर क्लिक करें।

ई-हस्ताक्षर का उपयोग करना

  • 'सबमिट विद ई-साइन बटन चुनें और 'अग्री ' बटन पर क्लिक करें।
  • SMS और ईमेल के माध्यम से भेजे गए ई-हस्ताक्षर और 2 ओटीपी दर्ज करें और 'कन्टिन्यू' बटन दबाएं।
  • सबमिशन की पावती 15 मिनट में ईमेल और एसएमएस के माध्यम से जेनरेट होती है।

DSC का उपयोग करना

  • सबमिट विद DSC बटन चुनें और DSC विकल्प का उपयोग करके सबमिट करने के लिए प्रोसीड बटन पर क्लिक करें।

 EVC-इलेक्ट्रॉनिक वेरिफिकेशन कोड का उपयोग करना

  • 'सबमिट विद EVC ' टैब चुनें और अग्री पर क्लिक करें।
  • आधार से जुड़े फोन नंबर पर भेजा गया ओटीपी दर्ज करें और 'कन्टिन्यू' पर क्लिक करें।
  • ARN के साथ एक पावती- एप्लीकेशन रेफरेंस नंबर जेनरेट होती है और 15 मिनट के भीतर ईमेल और एसएमएस के माध्यम से भेजी जाती है।

यहाँ बताया गया है कि आप GSTP परीक्षा कैसे देते हैं।

चरण -2:NACIN के GSTP सर्टिफिकेशन के लिए क्वालीफाई कैसे करें

जीएसटी प्रैक्टिशनर परीक्षा

सभी योग्य उम्मीदवारों को चाहिए:

1. पात्रता सत्यापन के लिए संबंधित अधिकारी से मिलें।

2. फॉर्म पीसीटी-01 का उपयोग करके जीएसटी पोर्टल पर नामांकन करें और फॉर्म पीसीटी-02 का उपयोग करके एआरएन नामांकन संख्या प्राप्त करें।

3. उम्मीदवार को GSTP के रूप में नामांकन के दो साल के भीतर GSTP प्रमाणन परीक्षा में उत्तीर्ण होना चाहिए।

परीक्षा के संबंध में कुछ उपयोगी विवरण यहाँ दिए गए हैं।

संचालन प्राधिकरण:

NACIN- नेशनल एकेडमी ऑफ कस्टम्स, इनडायरेक्ट टैक्स और नारकोटिक्स परीक्षा सरकार द्वारा GST प्रैक्टिशनर कोर्स को प्रमाणित करने का अधिकार है।

जीएसटी प्रैक्टिशनर परीक्षा तिथि:

GSTP परीक्षा पूरे भारत में निर्दिष्ट केंद्रों पर और GST पोर्टल, समाचार पत्रों और NACIN द्वारा GST परिषद के सचिवालय पर अधिसूचित तिथियों पर आयोजित की जाती है।

जीएसटी प्रैक्टिशनर परीक्षा वेबसाइट विवरण:

आप यूजर आईडी के रूप में जीएसटी नामांकन संख्या और पासवर्ड के रूप में पैन विवरण का उपयोग करके http://nacin.onlineregistrationform.org लिंक पर जीएसटीपी परीक्षा के लिए पंजीकरण कर सकते हैं।

जीएसटी परीक्षा शुल्क विवरण:

जीएसटी प्रैक्टिशनर परीक्षा ऑनलाइन पंजीकरण शुल्क का विवरण एनएसीआईएन वेबसाइट पर भुगतान विकल्पों के साथ उपलब्ध है।

 GSTP परीक्षा:

जीएसटी प्रैक्टिशनर के लिए परीक्षा ऑनलाइन होती है, जिसमें 100 बहुविकल्पीय (MCQ) प्रश्नों का उत्तर 2.5 घंटे में देना होता है और 50% का स्कोर क्वालीफाई करने के लिए चाहिए होता है। दो वर्षों में प्रयासों की संख्या पर कोई सीमा नहीं है।

परिणामों की घोषणा:

एनएसीआईएन परीक्षा के एक महीने के भीतर डाक/ईमेल के माध्यम से परिणामों की सूचना देता है।

जीएसटी प्रैक्टिशनर कोर्स परीक्षा पाठ्यक्रम:

जीएसटी प्रैक्टिशनर परीक्षा प्रश्न 2017 के नीचे दिए गए विधानों में उल्लिखित 'जीएसटी प्रक्रियाओं और कानून' पर आधारित हैं।

  • IGST-एकीकृत वस्तु एवं सेवा कर अधिनियम
  • CGST-सीजीएसटी-केंद्रीय वस्तु एवं सेवा कर अधिनियम
  • SGST-एसजीएसटी-राज्य माल और सेवा कर अधिनियम
  • राज्यों को मुआवजा जीएसटी अधिनियम
  • UTGST- केंद्र शासित प्रदेश माल और सेवा कर अधिनियम
  • केंद्रीय, एकीकृत सामान और सेवाएं और सभी राज्य जीएसटी नियम
  • उपरोक्त नियमों और अधिनियमों के तहत जारी आदेश, अधिसूचनाएं, नियम और आदेश।

GSTP परीक्षा में क्या करें और क्या न करें

क्या करें 

  • हमेशा GSTP परीक्षा के लिए अग्रिम पंजीकरण करें और परीक्षा शुल्क का समय पर भुगतान सुनिश्चित करें।
  • पाठ्यक्रम में शामिल फाइलिंग प्रक्रियाओं, नियमों, विभिन्न कानूनों और आदेशों का अध्ययन करें।
  • एडमिट कार्ड, वोटर आईडी, पैन, पासपोर्ट, आधार कार्ड आदि की मूल प्रति (original copy )लाना सुनिश्चित करें।

क्या न करें :

  • परीक्षा शुरू होने से 15 मिनट पहले गेट बंद होने के कारण देर से न पहुंचें। हमेशा आधा घंटा आगे रहें।
  • तैनात सॉफ्टवेयर/हार्डवेयर के साथ छेड़छाड़।
  • ब्लूटूथ डिवाइस, मोबाइल फोन आदि न ले जाएं, अनुचित साधनों का उपयोग करें, कॉपी न करें या दुर्व्यवहार न करें,

लाइसेंस वैधता:

जब तक अधिकारियों द्वारा रद्द नहीं किया जाता है, तब तक जीएसटी प्रैक्टिशनर लाइसेंस जीवन भर के लिए वैध होता है और केवल उस क्षेत्र में जिसके लिए नामांकन किया जाता है।

जीएसटी प्रैक्टिशनर द्वारा प्रैक्टिस :

  • नामांकन पर, जीएसटी प्रैक्टिशनर जीएसटी प्रैक्टिशनर लॉगिन के लिए पोर्टल और ऑथराइजेशन के लिए फॉर्म जीएसटी पीसीटी-05 का उपयोग करके क्लाइंट के लिए रिटर्न दाखिल कर सकता है।
  • GSTP समयबद्ध आधार पर रिटर्न सत्यापित करने और फाइल करने के लिए बाध्य है और उचित परिश्रम के साथ यह सुनिश्चित करता है कि ऐसे फॉर्म में जीएसटीपी डिजिटल हस्ताक्षर हों।
  • दाखिल जीएसटी रिटर्न जीएसटी अधिकारी द्वारा सत्यापित और प्रमाणित हैं और एसएमएस और ईमेल के माध्यम से दाखिल रिटर्न की पुष्टि करने के लिए पंजीकृत करदाता की आवश्यकता है।
  • यदि ग्राहक अंतिम फाइलिंग तिथि से पहले ऐसा करने में विफल रहता है, तो GSTP द्वारा प्रस्तुत रिटर्न को अंतिम माना जाता है।
  • यदि कोई ग्राहक जीएसटीपी सेवाओं से असंतुष्ट है, तो वे जीएसटी पोर्टल पर जमा किए गए ऑथराइजेशन फॉर्म को वापस ले सकते हैं।
  • जीएसटी प्रैक्टिशनर्स के किसी भी कथित मिस्कन्डक्ट के लिए जीएसटी अधिकारी द्वारा जीएसटीपी की निष्पक्ष सुनवाई का प्रावधान है, जो जीएसटीपी प्रैक्टिस लाइसेंस को रद्द/अयोग्य करने के लिए अधिकृत प्राधिकारी है।

जीएसटी प्रैक्टिशनर फॉर्म:

जीएसटी प्रैक्टिशनर के लिए आवश्यक फॉर्म हैं:

फॉर्म GST PCT-1

एनरोलमेंट एप्लीकेशन फॉर्म।

फॉर्म GST PCT-2

जीएसटी अधिकारी द्वारा जारी जीएसटी प्रैक्टिशनर के लिए एनरोलमेंट सर्टिफिकेशन फॉर्म।

फॉर्म GST PCT-3

एनरोलमेंट एप्लीकेशन / रिपोर्ट किए गए मिसकंडक्ट पर GSTP’ की अतिरिक्त जानकारी मांगने के लिए कारण बताओ नोटिस।

फॉर्म GST PCT-4

मिसकंडक्ट में एनरोलमेंट कीअस्वीकृति / मिसकंडक्ट में GSTP डिस्क्वालीफिकेशन पर ऑर्डर।

प्रैक्टिस कैसे होती है:

एक जीएसटी प्रैक्टिशनर का प्रैक्टिस आम तौर पर नीचे दिए गए चरणों का पालन करता है-

  • ग्राहक फॉर्म GST PCT-5  का उपयोग करके पोर्टल पर GSTP  सूची से GSTP  का चयन करता है और GSTP  को फॉर्म GST PCT-6 का उपयोग करके रिटर्न फाइल करने और तैयार करने के लिए अधिकृत करता है। इस तरह के ऑथराइजेशन को फॉर्म GST PCT-7 का उपयोग करके वापस लिया जा सकता है।
  • जीएसटी प्रैक्टिशनर जीएसटी पोर्टल पर अपनी साख साबित करने के लिए डिजिटल हस्ताक्षर का उपयोग करके रिटर्न तैयार करता है, सत्यापित करता है और फाइल करता है।
  • रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तिथि के भीतर ग्राहक से एसएमएस/ईमेल द्वारा पुष्टि की आवश्यकता होती है। यदि प्रदान नहीं किया जाता है, तो पोर्टल पर एक्सेस किए गए और GSTP द्वारा दाखिल किए गए रिटर्न को अंतिम माना जाता है।
  • कर योग्य ग्राहक को हमेशा सही और सत्य के रूप में दाखिल किए गए GSTP विवरण को सत्यापित करना चाहिए क्योंकि प्रस्तुत रिटर्न की जिम्मेदारी ग्राहक की होती है न कि GST प्रैक्टिशनर की।
  • जीएसटी प्रैक्टिशनर के रूप में अभ्यास शुरू करने के लिए नामांकन और परीक्षा के साथ शुभकामनाएँ!

क्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

जीएसटी प्रैक्टिशनर कौन है?

जीएसटी प्रैक्टिशनर एक प्रोफेशनल है, जो आपको टैक्स रिटर्न और अन्य संबंधित गतिविधियों को तैयार करने में मदद करता है।

क्या मैं अपने क्लाइंट के लिए जीएसटी रिटर्न दाखिल कर सकता हूँ?

हाँ, आप कर सकते हैं। हालांकि, यह रिकमेंड की जाती है कि आपको एक पंजीकृत जीएसटी प्रैक्टिशनर होना चाहिए।

क्या मैं अपना जीएसटी प्रैक्टिशनर रजिस्ट्रेशन एप्लीकेशन सहेज सकता हूँ अगर मैं इसे पूरा करने में असमर्थ हूँ?

हाँ, आप अपना रजिस्ट्रेशन एप्लीकेशन सहेज सकते हैं, लेकिन यह आपके टीआरएन जनरेशन की तारीख से केवल 15 दिनों के लिए वैध है।

क्या मुझे हर राज्य और केंद्र शासित प्रदेश में पंजीकरण करना चाहिए?

ऑल इंडिया बेसिस पर प्रैक्टिस करने के लिए सिंगल एनरोलमेंट पर्याप्त है।

क्या GSTN मुझे मेरे क्लाइंट्स की ओर से काम करने के लिए एक अलग यूजर आईडी और पासवर्ड प्रदान करेगा?

हाँ, GSTN आपको अपने ग्राहकों की ओर से काम करने के लिए GSTP को एक अलग यूजर आईडी और पासवर्ड प्रदान करता है।

क्या करदाता जीएसटीपी बदल सकते हैं?

हाँ, एक करदाता जीएसटी पोर्टल पर अपना जीएसटीपी बदल सकता है।

मुझे GST प्रैक्टिशनर परीक्षा के लिए कितना भुगतान करना चाहिए?

जीएसटी प्रैक्टिशनर की परीक्षा फीस NACIN द्वारा निर्धारित की जाती है। वर्तमान में, यह 500 रुपये है।

mail-box-lead-generation

Got a question ?

Let us know and we'll get you the answers

Please leave your name and phone number and we'll be happy to email you with information

Related Posts

None

जीएसटी के तहत रिफंड प्रक्रिया: -वह परिस्थितियाँ, जो जीएसटी रिफंड के दावों के लिए बन सकती हैं


None

भारत में जीएसटी का इतिहास - जीएसटी कार्यान्वयन लाभ


None

HSN कोड के साथ भारत में जीएसटी के तहत छूट प्राप्त सामानों की सूची