written by khatabook | July 3, 2021

GSTR - 4: अर्थ, फाइलिंग और भी बहुत कुछ

GSTR-4 फॉर्म को बेहतर ढंग से समझने में मदद करने के लिए फॉर्मैट, रिटर्न फाइलिंग, योग्यता और लागू नियमों पर नीचे चर्चा की गई है। कम्पोजीशन लेवी करदाताओं को वित्तीय वर्ष के बाद फॉर्म CMP-08 में महीने की 18 तारीख तक तिमाही रिटर्न दाखिल करना होता है।

GSTR 4 क्या है?

GSTR-4 एक महत्वपूर्ण GST वार्षिक रिटर्न फॉर्म है। इसे सालाना कंपोजिशन के जीएसटी करदाताओं द्वारा इलेक्ट्रॉनिक रूप से दाखिल किया जाता है। GSTR 4 अन्य डीलरों द्वारा दायर तीन मासिक फॉर्म GSTR-1, 2A और 2B, 3A और B से अलग है

GSTR 4 की देय तिथि क्या है?

जीएसटी कंपोजिशन डीलर को सालाना GSTR 4 में रिटर्न फॉर्म दाखिल करना होता है। जीएसटी कंपोजिशन स्कीम की देय तिथि आम तौर पर अगले वित्तीय वर्ष की 30 अप्रैल है। दूसरे शब्दों में, वित्त वर्ष 2020-21 के लिए GSTR-4 फॉर्म 30 अप्रैल 2021 तक दाखिल किया जाना है। वित्त वर्ष 2018-2019 तक, GSTR-4 फॉर्म वित्त वर्ष की समाप्ति के बाद महीने की 18 तारीख तक दाखिल किया गया था। वित्त वर्ष 2019-20 के GSTR-4 रिटर्न के लिए एक महत्वपूर्ण अपडेट यह था कि वार्षिक रिटर्न की तय तारीख 31 अगस्त 2020 तक बढ़ा दी गई थी और एक बार फिर से 31 अक्टूबर 2020 तक बढ़ा दी गई थी।

GSTR-4 फाइल करने के लिए कौन योग्य है?

GSTR 4 का मतलब उन करदाताओं द्वारा उपयोग किया जाने वाला रिटर्न फॉर्म से है, जो सालाना GST की कंपोजिशन स्कीम के तहत फाइल करने का विकल्प चुनते हैं।

सीजीएसटी (दर) की 7 मार्च 2020 की अधिसूचना संख्या 2/2019 के तहत सर्विस देने वाले की स्पेशल कंपोजिशन स्कीम के तहत आने वाले डीलर भी वित्त वर्ष 2019-20 से GSTR-4 के माध्यम से टैक्स भर सकते हैं।

क्या मैं GSTR-4 को रिवाइज कर सकता हूँ?

GSTN पोर्टल पर दाखिल GSTR 4 रिटर्न फाइनल है और इसे रिवाइज नहीं किया जा सकता है। हालाँकि, आप सामान्य GST पोर्टल पर उपलब्ध एक्सेल ऑफ़लाइन टूल (Excel offline Tools) का उपयोग करके GSTR 4 मे गलती को चेक कर सकते है और जाँचने के लिए ऑफ़लाइन टूल का उपयोग कर सकते हैं।

GSTR-4 के लिए लेट फीस क्या है?

यदि तय तारीख तक GSTR-4 दाखिल नहीं किया जाता है, तो रुपये 200 प्रति दिन लेट फीस के रूप मे लगेगा। इस जुर्माने की अधिकतम सीमा रु.5,000 या देय तिथि के 25 दिन बाद है।

GST कंपोजिशन रिटर्न फॉर्म GSTR-4 से संबंधित नया अपडेट क्या हैं?

1 मई 2021

1. सरकार ने वित्त वर्ष 2020-21 के लिए GSTR-4 दाखिल करने की तय तारीख 30 अप्रैल 2021 से बढ़ाकर 31 मई 2021 कर दी है।

2. जनवरी-मार्च 2021 के लिए 18 अप्रैल 2021 तक देय फॉर्म CMP-08 के लिए ब्याज शुल्क में छूट दी गई है। 8 मई को या उससे पहले CMP-08 दाखिल करने पर कोई ब्याज नहीं लिया जाएगा। 9 मई से 23 मई के बीच दाखिल करने वालों के लिए मई की ब्याज दर को घटाकर 9% कर दिया गया था, लेकिन उसके बाद 18% की दर से चार्ज किया गया।

15 फरवरी 2021

कंपोजीशन करदाता जीएसटी पोर्टल पर वित्त वर्ष 2020-21 के लिए फॉर्म GSTR-4 में वार्षिक रिटर्न दाखिल कर सकते हैं। GSTR-4 को 30 अप्रैल 2021 तक दाखिल करना होगा।

22 दिसंबर 2020 तक, GSTR 4 की तय तिथि बढ़ा दी गई और निम्नलिखित परिवर्तन किए गए:

  • CBIC या केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड ने लद्दाख केंद्र शासित प्रदेश में पंजीकृत करदाताओं के लिए वित्त वर्ष 2019-2020 के कंपोजिशन डीलर जीएसटीआर -4 के लिए जीएसटी रिटर्न दाखिल नहीं करने पर विलंब शुल्क माफ कर दिया है।
  • 22 सितंबर 2020 और 31 अक्टूबर 2020 के बीच विलंबित रिटर्न जमा करने पर विलंब शुल्क में कमी या छूट की अनुमति दी गई है। यह उन करदाताओं पर लागू होता है जिन्होंने वित्त वर्ष 2017-2018 और 2018-2019 के लिए GSTR-4 फॉर्म दाखिल नहीं किए हैं।
  • आईटीसी क्लेम की गई रिपोर्ट के नेविगेशन (navigation) में बदलाव और लायबिलिटी डिक्लेयर की तुलना के कारण फॉर्म 10 या जीएसटीआर -4 में रिटर्न दाखिल करने वाले करदाताओं के लिए लेट फीस के लिए रिलीफ मिलेगा।
  • वित्त वर्ष 2019-2020 के लिए GSTR 4 वार्षिक रिटर्न की देय तिथि 31 अक्टूबर 2020 तक बढ़ा दी गई है।

32वीं जीएसटी काउंसिल मीटिंग अपडेट कंपोजिशन ट्रेडर्स स्कीम के तहत निम्नलिखित लाभ (सरकारी अधिसूचना की प्रतीक्षा) प्रदान करती है जिसमें शामिल हैं:

  • जीएसटीआर 4 फॉर्मैट रिटर्न की वार्षिक फाइलिंग होगी बशर्ते कर का भुगतान क्वार्टरली (quarterly) किया जाए।
  • सरकार ने कंपोजिशन स्कीम के तहत 1 अप्रैल 2019 से सालाना टर्नओवर की सीमा को बढ़ाकर 1.50 करोड़ रुपये कर दिया है।
  • कंपोजिशन स्कीम के तहत सर्विस देने वालों पर 6 प्रतिशत जीएसटी दर लागू होती है, जिनका टर्नओवर पचास लाख प्रतिवर्ष से अधिक नहीं है। उत्तराखंड और जम्मू-कश्मीर के लिए यह लिमिट 75 लाख है।
  • यदि ग्राहकों को 10% सर्विस दी जाती है, तो डीलर कंपोजिशन स्कीम का ऑप्शन भी चुन सकते हैं।

क्या GSTR-4 तैयार करने और फाइल करने के लिए कोई ऑफलाइन टूल उपलब्ध है?

कंपोजिशन टैक्सपेयर्स द्वारा दाखिल किया गया वार्षिक रिटर्न फॉर्म GSTR-4 GST पोर्टल पर ऑफलाइन एक्सेल शीट/टूल के रूप में उपलब्ध है।

GSTR-4 वार्षिक रिटर्न दाखिल करने के लिए एक्सेल टूल (Excel Tool )

ध्यान दें कि कंपोजिशन के लिए जीएसटी रिटर्न के ऑफलाइन टूल में कई वैल्यू अपने आप भर जाती हैं। साथ ही,

  • फाइल रिटर्न बटन तभी इनैबल (enable) होता है, जब
  • कोई लायबिलिटी  मौजूद नहीं होती है,और कोई अतिरिक्त नकद भुगतान नहीं करना होता है।
  • डिक्लेरेशन बॉक्स मे चेक मार्क किए गए होते है।
  • ऑथराइज सिग्नेटरी का चयन सिग्नेटरी ड्रॉप-डाउन सूची से किया जाता है।
  • यदि GST CMP-08 में नेगेटिव लायबिलिटी स्टेटमेंट के साथ अधिक जमा राशि है, तो राशि खुद से मौजुदा किसी भी लायबिलिटी के लिए एडजस्ट हो जाती है।

  • आप केवल इलेक्ट्रॉनिक कैश लेजर का उपयोग करके जीएसटी कंपोजिशन रिटर्न में लायबिलिटी का भुगतान कर सकते हैं। यदि इलेक्ट्रॉनिक कैश लेज़र की उपलब्ध शेष राशि लायबिलिटी को ऑफसेट करने के लिए अपर्याप्त है, तो आप क्रिएट चलान (CREATE CHALLAN) टैब का उपयोग कर सकते हैं और इलेक्ट्रॉनिक कैश लेज़र में भुगतान कर सकते हैं।
  • तालिका-8 विलंब शुल्क और लागू कर की स्वतः गणना करती है। हालांकि, आपको ब्याज राशि खुद दर्ज करनी होगी।
  • जब करदाता 'प्रोसीड टू फाइल' टैब का उपयोग करता है, तो इनवार्ड सप्लाई विवरण पर सेक्शन में रिलेवेंट टैक्स रेट की तालिका 4B, C, D तालिका-6 में स्वतः भर दी जाती है। ऐसे समय तक प्रदर्शित शेष राशि कर देयता के लिए '0' होगी।
  • GSTR-4 फॉर्म में आउटवार्ड सप्लाई के लिए तालिका-6 पर पंक्ति संख्या 12 से 16 तक करदाता मैन्युअल रूप से भरता है।
  • GSTR-4 तालिका-5 लायबिलिटी का सेल्फ एसेस्ड समरी है और त्रैमासिक रूप से जमा किए गए फॉर्म CMP-08 के विवरण से स्वतः भर जाता है।
  • टैक्स राशि के विवरण के साथ GSTR-4 तालिका-4 भी चुनी गई कर रेट फ़ील्ड और दर्ज किए गए कर योग्य मूल्य के आधार पर स्वतः गणना की जाती है। यहाँ करदाता को लागू उपयुक्त सेस (CESS)दर्ज करने की आवश्यकता है।
  • पिछले वर्ष के कुल टर्नओवर की आवश्यकता है और कोई शून्य '0' का उपयोग कर सकता है यदि करदाता पंजीकृत नहीं था, कोई लेन-देन नहीं था या पिछले वित्त वर्ष में टर्नओवर ज़ीरो था।

  • GSTR-4 रिटर्न फॉर्म और CMP-08 फॉर्म के सभी क्वार्टर भर जाने के बाद GSTR 4 फॉर्म में वार्षिक रिटर्न स्वतः सक्रिय हो जाता है।

GSTR 4 में महत्वपूर्ण शॉर्ट फॉर्म 

  • वस्तु और सेवा करदाता पहचान संख्या - GSTIN
  • गुड्ज़ की सप्लाई  के लिए प्रयुक्त हार्मोनाइज सिस्टम ऑफ नोमेंक्लेचर - HSN
  • यूनिट क्वानिटी कोड - UQC
  • यूनिक आइडेंटीफिकेशन नंबर - UIN
  • सेवाओं और वस्तुओं की सप्लाई का स्थान - POS
  • सर्विसेज अकाउटिंग कोड - SAC
  • पंजीकृत व्यवसाय से अपंजीकृत उपभोक्ता को  - B2C
  • पंजीकृत डीलर/व्यवसाय से दूसरे पंजीकृत व्यवसाय/व्यक्ति को - B2B

निष्कर्ष

GSTR 4 का अर्थ और इसके महत्व को नीचे सरल प्रश्नों और उत्तरों के माध्यम से संक्षेप में समझाया गया है। GSTR 4 में वार्षिक रिटर्न डीलरों, सेवाओं और व्यवसायों को हर महीने फॉर्म -1, फॉर्म 2, 2A, 2B, फॉर्म 3, 3A, 3B भरने के बजाय CMP-08 तिमाही फॉर्म और वार्षिक GST-4 फॉर्म दाखिल करने की अनुमति देता है। इसके अलावा, GSTR-4 की सीमा में हालिया संशोधनों ने कंपोजिशन स्कीम के तहत 1.5 करोड़ तक के टर्नओवर को दाखिल करने की अनुमति दी है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

1. क्या मुझे एक वित्तीय वर्ष के दौरान कंपोजिशन स्कीम से बाहर निकलने पर भी GSTR-4 दाखिल करना होगा?

हाँ, किसी को भी उस वित्त वर्ष के लिए GSTR4 में वार्षिक रिटर्न दाखिल करना होगा जिसमें कोई स्कीम से बाहर हो जाता है, या  GSTR 4 की अंतिम तिथि को या उससे पहले पंजीकरण को रद्द कर दिया जाता है।

2. शून्य (NIL) GSTR-4 रिटर्न कौन दाखिल कर सकता है?

आप GSTR-4 Nil फाइल कर सकते हैं, अगर आपके पास 

  • कोई आउटवार्ड सप्लाई नहीं है।
  • उन्हें कोई सर्विस या गुड्ज़ की सप्लाई नहीं की गई।
  • कोई रिपोर्ट की गई लायबिलिटी नहीं।
  • फॉर्म पंजीकरण में शून्य(NIL) रिटर्न दाखिल किया।
  • वार्षिक रिटर्न फॉर्म में GSTR 4 के लिए कोई लेट फीस नहीं है।

3. GSTR 4 कैसे फाइल करें?

कोई भी जीएसटी पोर्टल पर जीएसटीआर 4 फॉर्म ये स्टेप्स फॉलो करके फाइल कर सकता है। 

  • UIN या यूजर आईडी और पासवर्ड का उपयोग करके लॉगिन करें
  • सर्विसेज टैब पर जाएं और उस पर क्लिक करें।
  • डबल क्लिक करके रिटर्न टैब चुनें।
  • वार्षिक रिटर्न का चयन करें और GSTR 4 फॉर्म खोजे।
  • GSTR-4 देय तिथि से पहले GSTR 4 वार्षिक रिटर्न फॉर्म तैयार करें और फाइल करें।

4. GSTR 4 में कौन से टेबल पाए जाते हैं?

आप GSTR-4 फॉर्म में निम्न टेबल पा सकते हैं।

  • टेबल 4A पंजीकृत सप्लायर की इनवार्ड सप्लाई को जोड़ने के संबंध में, लेकिन रिवर्स चार्ज को छोड़कर।
  • टेबल 4B पंजीकृत सप्लायर की इनवार्ड सप्लाई में रिवर्स शुल्क चार्ज को लेकर जोड़ने के लिए प्रयोग किया जाता है।
  • टेबल 4C का उपयोग अपंजीकृत सप्लायर की इनवार्ड सप्लाई का विवरण जोड़ने के लिए किया जाता है।
  • टेबल 4D सर्विस के इम्पोर्ट के संबंध में विवरण दर्ज करने के लिए है:
  • टेबल 5 एक CMP-08 समरी है और इसे जमा की हुई तिमाही CMP-08 फॉर्म्स से ऑटो पॉपुलेट किया जाता है।
  • टेबल 6 आउटवार्ड और इनवार्ड सप्लाई रिवर्स चार्ज दोनों के लिए रेट वाइज़ टैक्स के लिए उपयोग होता है।
  • टेबल 7 में प्राप्त टीसीएस/टीडीएस क्रेडिट की सूची होती है।

5. फॉर्म GSTR 4 समरी कैसे डाउनलोड करें?

GST पोर्टल से GSTR 4 वार्षिक रिटर्न फॉर्म समरी को डाउनलोड किया जाता है।

1. आप लॉग इन कर के सर्विसेज़  टैब पर जाएँ।

2. रिटर्न टैब पर क्लिक करें और इसके तहत एनुअल रिटर्न टैब चुनें।

3. इसके बाद, फॉर्म GSTR-4 के तहत प्रिपेयर ऑनलाइन (PREPARE ONLINE) टैब खोलें।

4. सबसे नीचे टैब पर क्लिक करके और इसे सेव करके एक्सेल फॉर्मेट या पीडीएफ फॉर्मेट में डाउनलोड करने के विकल्प मिलेंगे।

6. मुझे भुगतान करने के लिए विलंब शुल्क, कर और ब्याज राशि कहाँ से मिलेगी?

टेबल -8 स्वचालित रूप से कर और विलंब शुल्क प्रदर्शित करता है। लेकिन, आपको ब्याज मैन्युअल रूप से दर्ज करना होगा।

7. क्या मैं देय तिथि के बाद बिना विलंब शुल्क भरे GSTR 4 दाखिल कर सकता हूँ?

आम तौर पर देय तिथि के बाद दाखिल किए गए रिटर्न में विलंब शुल्क लगता है, जिसे व्यवसाय को रिटर्न दाखिल करने से पहले भुगतान करना होगा। सरकार के पास ऐसी लेट फीस माफ करने का अधिकार सुरक्षित है।

8. मैं लायबिलिटी का सेट ऑफ कैसे करूँ?

करदाता इलेक्ट्रॉनिक कैश लेज़र के बचे हुए राशि का उपयोग कर सकता है, जो कि पहले से भुगतान की गई फॉर्म CMP 08  के बाद बची हुई राशि है। यदि लेज़र बैलेंस अपर्याप्त है, तो आप बैलेंस पेमेंट करने के लिए 'क्रिएट चालान' टैब का उपयोग करके चालान बना सकते हैं।

9. अगर मुझे कोई एरर या प्रोसेसिंग एरर मैसेज (error or processing error message) प्राप्त होता है, तो मुझे क्या करना चाहिए?

बहुत सारी जानकारी ऑटो-पॉप्युलेट होती है। यदि प्रोसेसिंग के दौरान आपको कोई एरर मैसेज मिलता है, तो आपको वार्निंग या प्रोसेसिंग जब तक पूरा न हो प्रतीक्षा करनी होगी। यदि प्रोसेसिंग के बाद भी एरर मैसेज मिलता है, तो आप GSTR-4 पर फिर से जा सकते हैं और गलती को सुधार सकते हैं।

10. क्या मैं ऑफलाइन टूल का उपयोग करके GSTR 4 फाइल कर सकता हूँ?

जीएसटी पोर्टल में जीएसटीआर 4 वार्षिक रिटर्न फॉर्म तैयार करने के लिए एक ऑफलाइन एक्सेल टूल है। हालांकि, GSTR 4 रिटर्न भरने की प्रक्रिया को पूरा करने के लिए पोर्टल पर ऑनलाइन प्रक्रिया का उपयोग करना होगा।

11. आप किन तरीकों से GSTR-4 फॉर्म पर हस्ताक्षर कर सकते हैं?

EVC या DSC मोड का उपयोग करके वार्षिक GSTR 4 रिटर्न दाखिल करना संभव है:

  • DSC- डिजिटल सिग्नेचर सर्टिफिकेट का उपयोग व्यक्ति की पहचान को मान्य करने के लिए किया जाता है। प्रमाणित करने वाले अधिकारी http://www.cca.gov.in/cca/?q=licensed_ca.html पर प्रमाण पत्र जनरेट करते हैं।
  • EVC- इलेक्ट्रॉनिक वेरिफिकेशन कोड एक SMS ओटीपी के माध्यम से असेसी (assessee) की पहचान को प्रमाणित करता है। SMS जीएसटी पोर्टल के साथ पंजीकृत मोबाइल नंबर पर भेजा जाता है।

12. क्या मैं दाखिल करने से पहले GSTR-4 फॉर्म  प्रिव्यू (preview) कर सकता हूँ?

हाँ, आप एक्सेल और पीडीएफ फॉर्मेट में जीएसटीआर-4 फॉर्म का पूर्वावलोकन कर सकते हैं। ऐसा करने के लिए, आपको जीएसटी पोर्टल पर उपलब्ध 'डाउनलोड जीएसटीआर-4 (एक्सेल)DOWNLOAD GSTR-4 (EXCEL' या 'डाउनलोड जीएसटीआर-4 (पीडीएफ)'‘DOWNLOAD GSTR-4 (PDF) टैब पर क्लिक करना होगा।

13. GSTR 4 फॉर्म सफलतापूर्वक जमा होने के बाद क्या होता है?

एक बार फॉर्म GSTR 4 में वार्षिक रिटर्न सफलतापूर्वक जमा हो जाने के बाद

  • एक पावती संख्या (acknowledgement number) या ARN नंबर जेनरेट होता है।
  • करदाता को पंजीकृत मोबाइल नंबर पर पंजीकृत ईमेल और SMS के माध्यम से पावती प्राप्त होती है।
  • इलेक्ट्रॉनिक कैश लेजर स्वचालित रूप से अपडेट हो जाता है।

14. टैक्स फ़ील्ड की राशियाँ (amounts) ऑटो पाप्युलेट कैसे हो जाती हैं?

राशियाँ दर्ज किए गए टैक्सेबल वैल्यू फ़ील्ड से ऑटो फिल हो जाती हैं। हालांकि, सेस (Cess) की गणना नहीं की जाती है और इसे यूजर या करदाता द्वारा खुद ही भरा जाता  है।

mail-box-lead-generation

Got a question ?

Let us know and we'll get you the answers

Please leave your name and phone number and we'll be happy to email you with information

Related Posts

all about gst

जीएसटी के तहत क्षतिपूर्ति उपकर क्या है?


invoice under gst

जीएसटी के तहत प्रो फॉर्मा चालान क्या है - अर्थ, टेम्पलेट और उपयोग


impact of gst rate

घरेलू उपकरणों और विद्युत मशीनरी पर जीएसटी दर का प्रभाव


gst liability

जीएसटी पोर्टल पर सीएमपी-08 में जीएसटी देयता का भुगतान: स्टेप-बाय-स्टेप गाइड


gst on labour

भारत में श्रम शुल्क पर जीएसटी के बारे में जानिए


exemptions under gst

जीएसटी के तहत किन वस्तुओं को छूट दी गई है?


quaterly returns

जीएसटी: त्रैमासिक रिटर्न फाइलिंग और कर का मासिक भुगतान (क्यूआरएमपी)


gst supply of goods

जीएसटी के तहत माल की आपूर्ति का स्थान


gstr-1

जीएसटी पोर्टल पर शून्य जीएसटीआर 1 रिटर्न कैसे दाखिल करें?